ब्रह्माकुमारीं बहनों ने किया डॉक्टरों का सम्मान

ब्रह्माकुमारीं बहनों ने किया डॉक्टरों का सम्मान

 

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय टिमरनी द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम संस्कृति की ओर कार्य योजना के तहत टिमरनी के शासकीय अस्पताल में डॉक्टर्स के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया ।


कोई भी व्यक्ति हो हर किसी के जीवन में एक डॉक्टर अहम भूमिका निभाता है जहां एक तरफ लोगों के लिए डॉक्टर महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं , और दूसरी तरफ डॉक्टर्स भी अपने मरीजों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करते हैं ऐसे में उनका सम्मान हमारे लिए गर्व की बात होनी चाहिए इसी उद्देश्य से भारत सरकार ने इसे एक जागरूकता अभियान के रूप में शुरू किया जो कि एक वार्षिक उत्सव है और यह आम लोगों को डॉक्टर्स की भूमिका, महत्व एवं उनके द्वारा की गई अनमोल देखभाल के बारे में जागरूक होने में मदद करता है । कोरोना काल में डॉक्टरों ने अपनी जान की परवाह न करते हुए भी मरीजों के प्रति अपने दायित्व को निभाया भूख प्यास को ना देखते हुए उनकी सेवा में तत्पर रहें ऐसे डॉक्टर निश्चित ही सम्मान के पात्र हैं।

डॉक्टर के जीवन में समर्पण त्याग और सेवा की भावना होती है। मरीजों के दर्द को दूर करता है। ऐसे डॉक्टर हमेशा स्वस्थ रहें ऐसी मंगल कामना हम सभी परमात्मा से करते हैं। मन को शक्तिशाली बना कर हम मरीजों को मानसिक रूप से स्वस्थ बना सकते हैं। श्री एम के चौरे बी .एम .ओ. ने कहा मानसिक रूप से सशक्त होंगे तो अपनी सेवाएं सुचारू रूप से कर सकते हैं।

डॉक्टर राजेंद्र शर्मा ने अपनी भावनाएं व्यक्त की डॉक्टरों को भी अपने जीवन में आध्यात्म को भी शामिल करना चाहिए। डॉ.पुष्पा देशमुख ने कहा मैं भी राजयोग का अभ्यास कर रही हूं।

राजयोग हमारे मन को शीतलता प्रदान करता है और हमारे जीवन के तनाव को दूर करता है इसलिए आप सभी राजयोग सीख कर जीवन के तनाव को दूर कर सके

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *