जल संरक्षण तालाब संरक्षण और जल स्रोतों के संरक्षण के संदर्भ में ज्ञापन सौंपा गया।

जल संरक्षण तालाब संरक्षण और जल स्रोतों के संरक्षण के संदर्भ में ज्ञापन सौंपा गया।

 

झांसी। आज तालाब संरक्षण समिति एवं श्री उदासी बाबा व्यायाम सेवा संघ के संयुक्त तत्वाधान में तालाब संरक्षण समिति के संयोजक डॉक्टर सुनील तिवारी के नेतृत्व में और अजीत राय के संयोजन में झांसी मंडल के मंडलायुक्त अजय शंकर पांडे को जल संरक्षण तालाब संरक्षण और जल स्रोतों के संरक्षण के संदर्भ में ज्ञापन सौंपा गया।



ज्ञापन में समिति के सदस्यों ने मंडलायुक्त से मांग की, कि महारानी लक्ष्मीबाई की पावन कर्मभूमि एवं उनके आत्मोत्कर्ष की स्मृति को संजोए हुए l लक्ष्मी तालाब अपने धरोहर के लिए संघर्ष कर रहा है 17 वीं शताब्दी के गुससाईयो के समय के तालाब और उसके आसपास लगभग 25 कुएं थे, जिनका अस्तित्व खत्म कर दिया गया जबकि पूर्व के नक्शे में कुएं दर्ज हैं



भू पैमाइश के लिए कुआं को आधार माना जाता है तालाब के आसपास का क्षेत्र अतिक्रमण की चपेट में है l लक्ष्मी तालाब के निकट पांच पहाड़ियां थी, जिनकी गाटा संख्या 1237 1245 77 368 एवं 1329 है इन गाटा संख्या में अंकित भूमि 15 एकड़ के करीब है जमींदारी उन्मूलन अधिनियम 1952 के अभिलेखों के आधार पर इनकी जांच होनी चाहिए पूर्व अभिलेखों के अनुसार लक्ष्मी तालाब का जल भराव क्षेत्र 83, 62 एकड़ है।

cowin vaccine registration online- Click Here

ये भूभाग जलभराव का क्षेत्र लक्ष्मी तालाब के रूप में चिन्हित होता है जबकि इस समय यह इस भूमि को रिकवर होना चाहिए मंडलायुक्त अजय शंकर पांडे ने समिति के सदस्यों को आश्वासन दिया की झांसी मंडल के सभी जल स्रोतों के संरक्षण के प्रति प्रशासन गंभीर है साथ ही साथ लक्ष्मी तालाब की भू पैमाइश पर मंडलायुक्त ने एक समिति का गठन भी किया गया, जिसमें अपर आयुक्त नगर निगम, सचिव झांसी विकास प्राधिकरण एवं भूगर्भ संरक्षण अधिकारी को शामिल किया गया है।



मंडलायुक्त से वार्ता के दौरान डॉक्टर सुनील तिवारी, अशोक तिवारी गुरु, अजीत राय, अरुण द्विवेदी, राजेंद्र उपाध्याय, रवि जैन आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।



 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *