कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामने वाले नेता

Congress-Party-News

कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामने वाले नेता

 

एन बीरेन सिंह (Congress Party News)

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह कांग्रेस के नेतृत्व वाली राज्य सरकार में मंत्री हआ करते थे। 2012 में मंत्रिमंडल में जगह नहीं  मिली तो मुख्यमंत्री इबोबी सिंह से उनके संबंध खराब हो गए। आखिरकार अक्तूबर 2016 में उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया। भाजपा की सरकार बनी तो उन्हें मुख्यमंत्री पद से नवाजा गया।

रीता बहुगुणा जोशी

कांग्रेस की दिग्गज नेता रहीं रीता बहुगुणा जोशी 2016 में भाजपा में शामिल हुई थीं। 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में लखनऊ कैंट से उन्होंने मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव को हराया। उन्हें कैबिनेट मंत्री भी बनाया गया। हालांकि, 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा ने उन्हें प्रयागराज से उम्मीदवार बनाया।  और अभी वह सांसद हैं।

 

राधाकृष्ण विखे पाटिल

महाराष्ट्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल पिछले साल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। उन्होंने जिस समय इस्तीफा दिया था वह विधानसभा में विपक्ष के नेता थे। फिलहाल भाजपा में हाशिए पर चल रहे हैं और अभी उनके कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के नेतृत्व वाले महाविकास अघाड़ी सरकार में शामिल होने की अटकलें हैं।

पेमा खांडू

एक समय अरुणाचल कांग्रेस के बड़े नेता रहे पेमा खांडू ने दिसंबर 2016 में पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल का गठन किया। बाद में पाटी का भाजपा में विलय कर दिया। 2019 में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर भाजपा ने राज्य में सरकार बनाई और पेमा खांडू मुख्यमंत्री बनाए गए।

 

जगदबिका पाल

यूपी में एक दिन के मुख्यमंत्री रहे जगदंबिका पाल 2014 लोकसभा चुनाव से ऐन पहले भाजपा में शामिल हो गए थे। उन्होंने कहा था कांग्रेस को खुद पर भरोसा नहीं है, इसलिए वह लगातार प्रयोग कर रही है। पाल को भाजपा ने डुमरियागंज से टिकट दिया व लगातार दो बार से वह सांसद हैं।

 

हिमंता बिस्वा सरमा

हिमंता बिस्वा सरमा कभी असम में कांग्रेस का एक बड़ा चेहरा हुआ करते थे। पार्टी नेतृत्व से नाराजगी की वजह से वर्ष 2015 में वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए। उन्हें पूर्वोत्तर में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई। पूर्वोत्तर के किसी राज्य में जब संकट आता है तो हिमंता बिस्वा ही . उसे संभालते हैं। असम में वित्त, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे अहम मंत्रालय संभालने के बावजूद हिमंता भाजपा का भरोसेमंद चेहरा हैं। वह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बेहद करीबी माने जाते हैं।

पेमा खांडू

एक समय अरुणाचल कांग्रेस के बड़े नेता रहे पेमा खांडू ने दिसंबर 2016 में पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल का गठन किया। बाद में पार्टी का भाजपा में विलय कर दिया। 2019 में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर भाजपा ने राज्य में सरकार बनाई और पेमा खांडू मुख्यमंत्री बनाए गए।

ALSO READ ज्योतिरादित्य सिंधिया का पुतला फूंका

 

एसएम कृष्णा (Congress Party News)

यूपीए सरकार में विदेश मंत्री रहे एसएम कृष्णा 2017 में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए थे। कर्नाटक के इस कद्दावर नेता के पास अभी कोई अहम जिम्मेदारी नहीं है।

ALSO READ आदिवासी बस्ती में जाकर बच्चों संग खेली होली – वैशाली पुंशी

नारायण राणे

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने पिछले साल भाजपा का दामन थाम लिया था। भाजपा के समर्थन से उन्हें राज्यसभा के लिए चुना गया। वर्तमान में राणे राज्य में भाजपा का प्रमुख चेहरा हैं।

ALSO READ PLEASE NO TOUCHING YOUR FACE-COVID 19

ज्योतिरादित्य सिंधिया

सिंधिया राजघराने में 1971 को जन्म पूर्व मंत्री स्वर्गीय माधवराव सिंधिया के पुत्र गुना सीट पर 2002 के उपचुनाव में ज्योतिरादित्य सांसद बने 2012 से 2014 तक मनमोहन सरकार में  केंद्रीय मंत्री रहे बार लगातार सांसद चुने 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें गए गुना सांसद सीट से हार का सामना करना पड़ा

 

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *