DINARA BRAHMA KUMARIS CENTER-INAUGARATION

DINARA-BRAHMA-KUMARIS-CENTER

DINARA BRAHMA KUMARIS CENTER-INAUGARATION

दिनारा में ब्राह्मकुमारी सेंटर का उद्घाटन

 

JMKTIMES! दिनारा में ब्राह्मकुमारी सेंटर का उद्घाटन हुआ, दिनारा  (DINARA BRAHMA KUMARIS CENTER) मे प्रभू उपहार भवन का उद्घाटन बीके अवधेशबहन जी जोन डायरेक्टर (भोपाल ) ने किया समारोह में  बीके,रेखा बहिन बीके प्रतिभा बहन, बी के दीपा बहन,  बीके सरोज बहन, बीके मनिषा बहन तथा अन्य बहन-भाई उपस्थित रहे

बी के अवधेशबहन जी कहा कि  विज्ञान समाप्त हो जाता है वहाँ पर योग काम करता है। उन्होंने ओम शब्द की महत्वता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह एक शब्द प्रदर्शित करता है कि ईश्वर एक ही है, वह किसी धर्म के लिए अलग नहीं है। योग के बल पर धर्म और मजहब के मकड़जाल से छूट समाज एकजुट हो सकता है।

 

उन्होंने कहा कि आज मानव समाज काम, क्रोध, लोभ और हिंसा रूपी भयावय समस्याओं से जूझ रहा है। चारो ओर लोग निराशा, भय, अशान्ति, असंतुष्टता व अवसाद से घिरे हुए हैं। इसका मूल कारण मानव के सामाजिक, नैतिक व आध्यात्मिक मूल्यों में गिरावट ही है। उन्होंने कहा कि ऐसे नाजुक समय में आध्यात्मिकता ही एक मात्र सहारा है जो मनुष्य की चेतना को जागृत कर सकता है। उन्होंने आगे कहा कि आध्यात्मिकता कोई धार्मिक कर्मकाण्ड नहीं, बल्कि में मानवीय मूल्यों और संवेदनाओं को व्यवहारिक जीवन में उतारने की शिक्षा है।

 

बी के प्रतिभा बहन  ने कहा कि ज्ञान के अभाव में मनुष्य ईश्वरीय वरदानों से वंचित रहता है। अज्ञान अंधकार के कारण आत्मा विकर्म करने के बाद दुःख, अशान्ति की अनुभूति करती है। ऐसी तनावजन्य ज़िन्दगी को सुखमय बनाने के लिए नियमित रूप से सत्यम् शिव परमात्मा के सत्य ज्ञान का अनुसरण करना चाहिए। परमपिता परमात्मा शिव के साथ सम्बंध जोड़ने से ही आत्मा मुक्ति व जीवनमुक्ति का अनुभव कर सकती है। जीवन में असफलता का एकमात्र कारण अज्ञान अंधकार है। उन्होंने कहा कि सत्य ज्ञान व ईश्वर का ध्यान ही आत्मा का सशक्तिकरण करता है।

DINARA BRAHMA KUMARIS CENTER

जितना ज़्यादा मन, बुद्धि को आध्यात्मिक ज्ञान से परिपूर्ण रखेंगे उतना ही जीवन में आने वाली समस्याओं को खेल की तरह पार कर सकते हैं। आत्मजागृति के लिए राजयोग का अभ्यास करना चाहिए।

ALSO READ Meditation Tips For Beginners

कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलित करके की गई। कार्यक्रम में गांव-गांव से सैकड़ो लोगों ने उत्साह के साथ भाग लिया

ASLO READ WEIGHT LOSS TIPS CLICK HERE

बीके सरोज बहन  ने कहा कि घर-गृहस्थी में रहते हुए भी आत्मा कमल पुष्प की भांति निर्मल बन सकती है और परमात्मा द्वारा विश्व के महापरिवर्तन के कार्य में सहयोगी बन सकती है।

बीके मनिषा बहन ने कहा कि यह आध्यात्मिक  सेंटर  व्यक्ति को नर से नारायण बनायेगा। इसके साथ ही ग्रामीणों को जैविक, यौगिक खेती, जल संवर्धन और नशामुक्ति का प्रशिक्षण दिया जाएगा इसका अवलोकन प्रत्येक व्यक्ति को करना चाहिए।  यह संस्थान जन जन में ईश्वरीय संदेश के साथ सरकारी मुहिम को आगे बढ़ाने में मदद कर रहा है

उन्होंने कहा कि यह स्वर्गिक दुनिया निश्चित तौर पर लोगों को लुभा रही है। यही आने वाली दुनिया होगी जिसमें हमें चलना है। इसलिए हमें अभी से अपने जीवन में मूल्यों को धारण करने का प्रयास करना चाहिए।

 

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3493311