कानपुर एनकाउंटर: जन्मदिन के दिन ही शहीद हो गए झांसी का सुल्तान

Kanpur-encounter-Sultan-news

कानपुर एनकाउंटर: जन्मदिन के दिन ही शहीद हो गए झांसी का सुल्तान

JMKTIMES!  गुरुवार की रात, सुल्तान (Kanpur encounter Sultan news) दोस्तों के साथ जन्मदिन मनाने के बाद सैनिक घर पहुंचा। इस बीच, जैसे ही अपराधियों को उसे दंडित करने के लिए फोन आया, वह तैयार हो गया और टीम के साथ निकल गए । इसी बीच गोली लगने से उसकी मौत हो गई। शहादत की खबर मिलते ही परिवार के साथ गांव में शोक व्याप्त हो गया। देर रात शव भोजला गांव पहुंचा। जहां राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया।



थाना सीपरी बाजार के भोजला गाँव के रहने वाले सुल्तान सिंह (Kanpur encounter Sultan news) को पुलिस विभाग में वर्ष 2006 में चुना गया था। वह अपनी माँ के बच्चे के रूप में गुजर जाने के बाद मौरानीपुर के दामले इलाके में नाना के साथ रहते थे। यहां से पढ़ाई की, पूरी पुलिस में भर्ती हुए। बुंदेलखंड विद्या मंदिर इंटर कॉलेज ने यहां हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण की। अग्रसेन कॉलेज से स्नातक किया। 2006 में भर्ती होने के बाद, उनकी पहली पोस्टिंग औरैया में थी। इसके बाद कानपुर में पोस्टिंग के बाद वह अकेले रहते थे। वर्तमान में पत्नी और बेटी ओराई में झांसी रोड पर राजनगर में मायके में थीं।



शपथ समारोह के बाद सिंधिया की प्रतिक्रिया – टाइगर अभी भी जिंदा है

झांसी कलेक्टरेट में मास्क और सैनिटाइजर का वितरण

घटना की खबर मिलते ही वहां कोहराम मच (Kanpur encounter Sultan news)  गया। पत्नी भी अपने पिता के साथ कानपुर के लिए रवाना हो गई। परिवार के सदस्यों ने कहा कि वह अपनी बेटी को डॉक्टर बनाना चाहते थे। शुक्रवार सुबह जैसे ही शहादत की खबर आई, पूरे गांव में शोक छा गया। जैसे ही हमें खबर मिली, लोग घर पहुंचे और सांत्वना देने में लगे रहे। अधिकारी भी घर पहुंचे और ढांढस बंधाया।



24 जून को आखिरी बार झांसी आए थे

परिजनों के मुताबिक, वह 23 जून को सुल्तान के चाचा की मौत के बाद 24 जून को गांव आया था। एक दिन यहाँ रहने के बाद ओराई भी अपनी पत्नी और बेटी से मिलने गया। पिछली बार जब वे मिले थे, उनके परिवार के सदस्यों ने इसके बारे में नहीं सोचा था।

 

नाना वरिष्ठ कांग्रेसी, मामा पार्षद रहे

सुल्तान सिंह के नाना मोती लाल वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व प्रदेश की कैबिनेट मंत्री रहीं बेनिबाई के भाई थे। मोती मेंबर के नाम से लोकप्रिय रहे सुल्तान सिंह के नाना कई वर्षों तक नगरपालिका के सभासद भी रहे। सुल्तान सिंह के मामा अशोक वर्मा भी पालिका के सभासद रहे ।



 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3493311