सुशांत सिंह राजपूत केस: पटना एसपी बोले- छूट दी जा सकती थी

Sushant Singh Rajput Suicide Case

सुशांत सिंह राजपूत केस: पटना एसपी बोले- छूट दी जा सकती थी

 

JMKTIMES! सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड (Sushant Singh Rajput Suicide Case) मामले में जांच करने मुंबई पहुंचे एसपी तिवारी ने बिहार पुलिस की टीम के साथ काम करना शुरू कर चुके थे. इस बीच बीएमसी के अधिकारियों ने उन्हें महाराष्ट्र सरकार का क्वारंटीन करने का आदेश दिया और फिर उन्हें क्वारंटीन कर दिया गया. इसके बाद बिहार के डीजीपी ने एक बैठक बुलाई.

 

सुशांत सिंह राजपूत मामले में जांच करने मुंबई पहुंचे पटना एसपी (Sushant Singh Rajput Suicide Case)  सिटी विनय तिवारी को बीएमसी ने क्वारंटीन कर दिया है. अब इसे लेकर मामला बिहार पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस के बीच और तनाव बढ़ गया है. इस मामले को लेकर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने बिहार में एक मीटिंग बुलाई है. इस मामले पर बीएमसी का कहना है कि उन्होंने राज्य की गाइडलाइन का ही पालन किया है. इस बीच एसपी विनय तिवारी ने एबीपी न्यूज से इस मामले पर बात की है.

 


विनय तिवारी ने कहा कि क्वारंटीन होने पर कहा,”मुझे एयरपोर्ट पर किसी ने कुछ नहीं कहा. उन्होंने मुझे क्वारंटीन करने के लिए महाराष्ट्र सरकार के आदेश दिखाए. मैं आधिकारिक ड्यूटी पर हूं, तो मुझे छूट दी जा सकती है.” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि क्वारंटीन करने से पहले उनका कोई सैंपल नहीं लिया गया है. विनय तिवारी को अभी 15 अगस्त तक क्वारंटीन रहेंगे. इस दौरान वह वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मुंबई में जांच कर रही बिहार पुलिस टीम के साथ संपर्क में रहेंगे.

 

टीम के साथ शुरू कर दिया था काम


विनय तिवारी ने कहा, ”मैं अभी गेस्ट हाउस में क्वारंटीन हूं, मेरी जानकारी में है (Sushant Singh Rajput Suicide Case) कि पटना पुलिस की तरफ से मुंबई पुलिस को मेरे आने की जानकारी दी गई थी. सारी प्रक्रियाएं पूरी करके ही मैं यहां आया था. एयरपोर्ट पर मुझे कोई नहीं मिला, वहां किसी ने नहीं बताया कि मुझे क्वारंटीन करना है. जांच के लिए मैंने टीम के साथ मीटिंग करके काम शुरू कर दिया था. इसके बाद बीएमसी के अधिकारियों ने कहा कि आपको होम क्वारंटीन करना पड़ेगा. मैं यही क्वारंटीन से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपनी टीम के संपर्क में हूं और जांच को आगे बढ़ा रहा हूं.”

 

दी जा सकती थी छूट


विनय तिवारी ने कहा, “मैं जब काम के लिए बाहर निकला था (Sushant Singh Rajput Suicide Case) तब मुझे बीएमसी के अधिकारियों का फोन आया. मुझसे कहा गया कि आपको वापस आना पड़ेगा. सरकार का आदेश है तो इस पर आपत्ति की बात नहीं थी. लेकिन मैं ऑफिसर ऑन ड्यूटी था तो मुझे लगा कि छूट दी जा सकती है. मुझे महाराष्ट्र सरकार का आदेश दिखाया गया था. इससे पहले जो हमारी टीम आई थी उन्हें क्वारंटीन नहीं किया गया. मेरा इस मामले में ज्यादा कुछ कहना अभी ठीक नहीं होगा.”

 

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3493311