N95 मास्क को लगाने से क्यों रोक रही है सरकार

three-layer-face-mask

N95 मास्क को लगाने से क्यों रोक रही है सरकार

 

JMKTIMES! N -95मास्क में ‘एन’ रेटिंग (three layer face mask) क्लास मार्क है। इसका मतलब है ‘नॉन ऑयल’। यदि हवा में ऐसे धूल कण मौजूद होते हैं, जो तैलीय, तैलीय नहीं होते हैं, तो इस रेस्पिरेटर मास्क का उपयोग किया जाता है। यह राष्ट्रीय व्यावसायिक सुरक्षा और स्वास्थ्य संस्थान (NIOSH) की जाँच करके प्रमाणित है। NIOSH अनुसंधान एजेंसी। जो कार्यस्थल पर विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहे लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए अनुसंधान करता है। अमेरिकन सीडीसी रोग नियंत्रण और रोकथाम के लिए माने केंद्र का हिस्सा है।



N-95 में, ’95 ‘का अर्थ है ’95 प्रतिशत प्रभावी’। यह बिंदु तीन माइक्रोन आकार के धूल कणों को छान सकता है। यदि हमारे बालों की चौड़ाई को सौ भागों में विभाजित किया जाता है, तो इसका एक हिस्सा यह धूल का कण होगा।

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार, यह फ्लू जैसे संक्रामक रोगों में तीन से अधिक आकारों की बूंदों को फ़िल्टर कर सकता है। खांसी या छींकने पर बूंदों को तरल माना जाता है।



समस्या इसकी श्वसन प्रणाली है। आमतौर पर गैर-तैलीय धूल कणों को (three layer face mask) शरीर में प्रवेश करने से रोकने के लिए बनाया गया है, इस मास्क में श्वसन प्रणाली है। मास्क में एक वाल्व होता है। इस वाल्व का उद्देश्य क्या है? जिससे आपकी सांस लेने की क्षमता प्रभावित नहीं होती है। धूल को छानकर, यह आपके अंदर हवा पहुंचाता है, लेकिन जब आप सांस छोड़ते हैं, तो इसके लिए एक तरफ़ा वाल्व होता है, ताकि आपकी बाईं साँस आसानी से बाहर निकल सके।

Posted by JMK TIMES on Wednesday, February 19, 2020

यानी यह एक तरह से डस्ट चेकिंग की तरह काम करता है। उसी तरह जैसे कि किसी राजमार्ग पर शहर में आने वाले लोगों की पुलिस जाँच होती है, लेकिन शहर से बाहर जाने वाले लोगों की जाँच नहीं की जानी चाहिए।



आधिकारिक दिशानिर्देश के अनुसार, एक तीन-परत मास्क (three layer face mask) कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी तीन लेयर मास्क को श्रेष्ठ बताया है। केंद्र सरकार द्वारा मास्क के बारे में जारी एक विस्तृत दिशानिर्देश में लोगों से घर पर बने मास्क का उपयोग करने की भी अपील की गई है। यह भी कहा जाता है कि घर के बने मास्क को हर दिन धोना और सुखाना चाहिए।



सौंदर्य के देवता पर corona का कहर

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

//graizoah.com/afu.php?zoneid=3493311